01-Dec-2023
HomeENGLISHJAMMU & KASHMIRकश्मीर के त्रेहगाम में एक ही जगह पर है मंदिर-मस्जिद

कश्मीर के त्रेहगाम में एक ही जगह पर है मंदिर-मस्जिद

कश्मीर की खूबसूरत वादियों में एक जिला ऐसा भी है जहां दो अलग अलग समुदाय के लोग एक ही जगह प्रार्थना करते है। कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के त्रेहगाम गांव में एक जगह पर मंदिर-मस्जिद है। दो धार्मिक स्थलों के सामने एक प्रसिद्ध तालाब त्रेहगाम के करीब दर्जनों गांवों के लिए पानी का मुख्य स्त्रोत है।

तालाब का पानी मंदिर और वुजू दोनों के लिए उपयोग किया जाता है। यहां के स्थानीय लोग तालाब को हिंदू-मुस्लिम एकता (Hindu–Muslim Unity) का प्रतीक मानते है. तालाब में कई मछिलयां है लेकिन कभी भी किसी समुदाय ने मछलियों को नुकसान नहीं पहुंचाया।

पीर अब्दुल रशीद के अनुसार इस तालाब का ऐतिहासिक महत्व है और यहां तक कि सर वाल्टर रोपर लॉरेंस ने भी अपनी प्रसिद्ध पुस्तक “द वैली ऑफ कश्मीर” में इस तालाब के बारे में लिखा है। यह तालाब न केवल एक लाख लोगों के लिए पीने के पानी का एक बड़ा स्रोत है, बल्कि यह गर्मियों में एक हजार कनाल से अधिक कृषि भूमि को सिंचित करता है।

इस ख़बर को पूरा पढ़ने के लिए hindi.awazthevoice.in पर जाएं।

ये भी पढ़ें: ‘तहकीक-ए-हिंद’: उज़्बेकिस्तान में जन्मे अल-बीरूनी का हिंदुस्तान की सरज़मीं से ख़ास रिश्ता

आप हमें FacebookInstagramTwitter पर फ़ॉलो कर सकते हैं और हमारा YouTube चैनल भी सबस्क्राइब कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments