22-May-2024
HomeHUMAN INTERESTGold For Plastic Initiative: कैसे कश्मीर की एक मुहीम तेलंगाना में शुरू...

Gold For Plastic Initiative: कैसे कश्मीर की एक मुहीम तेलंगाना में शुरू की गई है?

“पॉलिथीन एक चिंता का विषय रहा है क्योंकि ये कचरे के गड्ढों में भी सड़ती नहीं है। इसलिए पर्यावरण को बचाने के लिए मेरे मन में “पॉलिथीन लाओ, सोना ले जाओ” मुहिम चलाने का विचार आया

पॉलिथीन लाओ, सोना ले जाओ (Gold For Plastic Initiative): कश्मीर के अनंतनाग ज़िले के सादिवाड़ा गांव के सरपंच फारूक अहमद गनई पर्यावरण को बचाने के लिए 2019 से “सेनिटेशन विद कम्युनिटी पार्टिसिपेशन” (Sanitation with Community Participation) नाम से एक मुहिम चला रहे हैं। इसके तहत फारूक अहमद गनई 200 किलोग्राम प्लास्टिक कचरा (Plastic waste) जमा करने वाले को एक सोने का सिक्का देते हैं।

फारूक अहमद गनई का मानना है कि अगर हम स्वच्छता पर ध्यान नहीं देंगे, तो अगले 10 सालों के भीतर आपको उपजाऊ भूमि में पानी का कोई स्वच्छ स्रोत नहीं मिलेगा। इस मुहीम को सफल बनाने में सबका सहयोग है, और सोशल मीडिया ने इसमें अहम भूमिका निभाई है। 

आवाज द वॉइस से बात करते हुए फारूक अहमद गनई ने बताया कि “पॉलिथीन एक चिंता का विषय रहा है क्योंकि ये कचरे के गड्ढों में भी सड़ती नहीं है। इसलिए पर्यावरण को बचाने के लिए मेरे मन में “पॉलिथीन लाओ, सोना ले जाओ” (Gold For Plastic Initiative)) मुहिम चलाने का विचार आया। अब इस ख़ास मुहीम की चर्चा यूपीएससी एग्जाम और करंट अफेयर्स में भी हो रही है।”

जनवरी महीने में सादिवाड़ा गांव को ज़िला आयुक्त की ओर से आधिकारिक तौर पर प्लास्टिक मुक्त घोषित कर दिया गया। वहीं अनंतनाग के सहायक विकास आयुक्त रियाज अहमद ने बताया कि सादिवाड़ा कश्मीर का पहला गांव है, जिसे प्लास्टिक प्रदूषण मुक्त घोषित किया गया है।

इस खबर को पूरा पढ़ने के लिए hindi.awazthevoice.in पर जाएं।

ये भी पढ़ें: विश्व शांति के लिए महत्वपूर्ण: भारत गणराज्य के साथ डॉ. मोहम्मद अब्दुलकरीम अल-इस्सा का दिलचस्प भ्रमण

आप हमें FacebookInstagramTwitter पर फ़ॉलो कर सकते हैं और हमारा YouTube चैनल भी सबस्क्राइब कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments