18-May-2024
HomeLIFESTYLEडॉ. अब्दुल कलाम के इस हेयर स्टाइल के पीछे की स्टोरी जानते...

डॉ. अब्दुल कलाम के इस हेयर स्टाइल के पीछे की स्टोरी जानते हैं आप? Pokhran II से जुड़ा है किस्सा

1998 से जून 2002 तक, उनके भारत के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने से एक पखवाड़े पहले, उन्होंने डॉ. कलाम को एक ट्रेंडसेटिंग हेयरस्टाइल देने के लिए उनके लुक में बदलाव किया।

जाने-माने हेयर स्टाइलिस्ट हबीब अहमद और उनके बेटे जावेद, परवेज और अमजद का डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम से एक ख़ास लगाव रहा है। कलाम साहब ने ही अमजद के बेटे का नाम रखा था। वो अमजद ही थे, जिन्होंने मिसाइल मैन को ऐसा हेयरस्टाइल दिया, जिसके लिए वो जाने जाते हैं। उस दिन को याद करते हुए अमजद कहते हैं कि मई 1998 में पोखरण द्वितीय परीक्षण के एक सप्ताह बाद का वह समय था, जब उन्होंने कलाम साहब के बालों को नया हेयर स्टाइल दिया।

अमूमन डॉ. अब्दुल कलाम हर तीन सप्ताह में बाल कटवाने सैलून आया करते थे। लेकिन इस बार वो लगभग छह महीने तक नहीं आए। फिर एक सुबह जब वो आए तो अमजद ये देखकर हैरान रह गए कि उनके बाल कंधे तक बढ़ गए थे। उनके पैर की उंगलियों के नाखून इतने बढ़े हुए थे कि ठीक से चला नहीं जा रहा था। उन्होंने बाल काटने के लिए कहा और अपने नाखून भी कटवाने चाहे।

अमजद कहते हैं कि 1998 से जून 2002 तक, उनके भारत के राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने से एक पखवाड़े पहले, उन्होंने डॉ. कलाम को एक ट्रेंडसेटिंग हेयरस्टाइल देने के लिए उनके लुक में बदलाव किया। कलाम साहब को अपना हेयर स्टाइल इतना पसंद आया कि उन्होंने जीवन भर इसे कभी नहीं बदला। बाद में कई ग्राहक अमजद के पास डॉ. कलाम जैसा हेयर स्टाइल कराने आए।

इस खबर को पूरा पढ़ने के लिए hindi.awazthevoice.in पर जाएं।

ये भी पढ़ें: Kashmir Art Emporium: कैसे दो Calligraphy Artists की कला ने लूटी लोगों की वाहवाही

आप हमें FacebookInstagramTwitter पर फ़ॉलो कर सकते हैं और हमारा YouTube चैनल भी सबस्क्राइब कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments